बाढ़ प्रबंधनविंग | जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय | भारत सरकार

You are here

मुख्‍य पृष्‍ठ हमारे बारे में स्‍कंध बाढ़ प्रबंधनविंग

बाढ़ प्रबंधनविंग

विंगप्रमुख: आयुक्‍त (बाढ़ प्रबंधन)]

  1. प्रभागीय प्रमुख: वरिष्‍ठ संयुक्‍त आयुक्‍त-I  
    1. निम्‍नलिखित का सचिवालीय कार्य:
      • केंद्रीय जल संसाधन मंत्री की अध्‍यक्षता में इंडो-बंग्‍लादेश संयुक्‍त नदी आयोग।
      • भारत और बांग्‍लादेश को उपलब्‍ध एकसमान जल संसाधन के सहभाजन के लिए सचिव (जल संसाधन) की अध्‍यक्षता में विशेषज्ञों की संयुक्‍त समिति।
      • सीमावर्ती नदियों पर पोतारोहन व नदी प्रशिक्षण कार्योंके संव्‍यवहार के लिए आयुक्‍त (गंगा) की अध्‍यक्षता में जेआरसी की स्‍थायी समिति।
    2. निम्‍नलिखित के जरिए 1996 में हस्‍ताक्षरित मंदी के मौसम में फरक्‍का पर गंगा/गंगाजल के सहाभाजन पर संधि का कार्यान्‍वयन।
      • संधि के कार्यान्‍वयन को देखभाल करने के लिए आयुक्‍त (गंगा) की अध्‍यक्षता में संयुक्‍त समिति।
      • संधि के प्रावधानों के अनुसार गंगा नदी पर फरक्‍का (भारत) और हाडिंग पुल (बंग्‍लादेश) की संयुक्‍त निगरानी के लिए व्‍यवस्‍था।  
    3. बाढ़ पूर्वानुमान पर इंडो-बांग्‍लादेश सहयोग कार्यक्रम का समन्‍वय।
    4. अंतर्राष्‍ट्रीयदृष्टिकोण से गंगा बेसिन में प्रमुख/माध्‍यमिक सिंचाईपरियोजना की मंजूरी।
    5. फरक्‍का बैराजपरियोजना से संबंधित मामले-तकनीकी मामले;
    6. बाढ़ प्रबंधन विंग से संबंधित सूचना का अधिकार मामले।
  2. प्रभागीय प्रमुख: वरिष्‍ठ संयुक्‍त आयुक्‍त-II 
    1. देश में राज्‍य क्षेत्र स्‍कीम ‘’बाढ़ प्रबंधन कार्यक्रम’’ का कार्यान्‍वयन।
    2. केंद्रीय क्षेत्र स्‍कीम ‘’सीमा क्षेत्रों से संबंधित नदी प्रबंधन कार्यकलाप और निर्माण’’ का कार्यान्‍वयन।
    3. केंद्रीय क्षेत्र स्‍कीम ‘’बाढ़ पूर्वानुमान’’ का कार्यान्‍वयन।
    4. देश में बाढ़ की स्थिति कीमॉनीटरिंग।
    5. बाढ़ प्रबंधन पर विशेषज्ञ समितियां/कार्य बल/ कार्यकारी समूह।
    6. राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण मामलों से संबंधित बाढ़ प्रबंधन मामले।
  3. प्रभागीय प्रमुख: वरिष्‍ठ संयुक्‍त आयुक्‍त-III  
    1. भारत-नेपाल मामले
      • सचिव (जल संसाधन) की अध्‍यक्षता में जल संसाधन पर संयुक्‍त समिति (जेसीडब्‍ल्‍यूआर)
      • ‘’सरदा बैराज, तनकपुर बैराजऔर पंचेश्‍वर परियोजना सहित महाकाली नदी के एकीकृत विकास’’ पर महकाली संधि का कार्यान्‍वयन।
      •  पंचेश्‍वरबहुप्रयोजनीय परियोजना, सप्‍त कोसी उच्‍च बांध बहुप्रयोजनीय परियोजना और सुबकोसी भंडारण सह विवर्तन स्‍कीम, नमूरे जल-विद्युत परियोजना आदि सहित भारत
        नेपाल संयुक्‍त परियोजनाओंसे संबंधित मामले।
      • इंडो-नेपाल सीमा पर जलप्‍लावन समस्‍याओं से संबंधित मामले।
      • बाढ़ पूर्वानुमान पर भारत-नेपाल स्‍थायी समिति से संबंधित मामलों सहित ‘’भारत और नेपाल में एकसमान नदी पर बाढ़ पूर्वानुमान और चेतावनी प्रणाली’’ कर कार्यान्‍वयन।
    2. गंगा बाढ़ नियंत्रण आयोग के स्‍थापना मामले।
    3. विभिन्‍न संगठनों को गंगा बेसिन के जलविज्ञान आंकडों का प्रकाशन।
  4. प्रभागीय प्रमुख: वरिष्‍ठ संयुक्‍त आयुक्‍त-IV
    1. ऊपरी यमुना नदी बोर्ड और ऊपरी यमुना समीक्षा समिति से संबंधित तकनीकी मामले।
    2. उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा,राजस्‍थान, हिमाचल प्रदेश राज्‍यों और राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्‍ली के बीच 1994 में हस्‍ताक्षरित यमुना जल के सहभाजन पर समझौता ज्ञापन का कार्यान्‍वयन।
    3. दिल्‍ली को अपरिष्‍कृत जल आपूर्ति के मामले
    4. यमुना बेसिन में रेनुका, किशाऊ और लखवार-व्‍यासी बांधों के कार्यान्‍वयन के मसले।
    5. गंगा बंसिन के सामान्‍य मामले।
    6. बाढ़ प्रबंधन विंग के लिए ई-गवर्नेंसनोडल अधिकारी।
    7. बाढ़ प्रबंधन विंग से संबंधित सूचना का अधिकार मामले।