हिंदी विंग | जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय | भारत सरकार

You are here

मुख्‍य पृष्‍ठ हमारे बारे में स्‍कंध हिंदी विंग

हिंदी विंग

विंगप्रमुख : आर्थिकी परामर्शदाता और प्रभारी (राजभाषा)

प्रभाग प्रमुख : निदेशक (राजभाषा) (रिक्‍त)

राजभाषा विंग के कार्यकलाप

जल संसाधन, नदी विकास और गंगा सरंक्षण मंत्रालय का राजभाषा विंग राजभाषा के प्रचार-प्रसार के लिए मंत्रालय और इसके अधीनस्‍थ संगठनों में निम्‍नलिखित कार्याकलाप कर रहा है: :

  1. मंत्रालय और इसके अधीनस्‍थ संगठनों में राजभाषा पर सांविधिक प्रावधान,राजभाषा अधिनियम, राजभाषा नियम आदि पर अनुदेशों/निर्देशों का कार्यान्‍वयन सुनिश्चित करना।
  2. संसदीय राजभाषा समिति की रिपोर्टों पर राष्‍ट्रपति के आदेशों का कार्यान्‍वयन सुनिश्चित करना और मंत्रालय में सभी अनुभागों व अधिकारियों तथा अ‍धीनस्‍थ कार्यालयों को अनुदेश जारी करना।
  3. संसदीय प्रश्‍नों के उत्‍तर, केबिनेट नोट, स्‍थायी समिति संबंधी सामग्री, वार्षिकरिपोर्ट, सांविधिक रिपोर्टों, आदेशों, पत्रों आदि का हिंदी में अनुवाद करना।
  4. कंप्‍यूटरो पर हिंदी का प्रयोग सुनिश्चित करना।
  5. मंत्रालय में हिंदी सलाहकार का गठन करना और इसकी बैठकों का आयोजन सुनिश्चित करना।
  6. मंत्रालय और अधीनस्‍थ संगठनों में राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति का गठन करना और उनकी नियमित बैठकों का आयोजन सुनिश्चित करना।
  7. हिंदी कार्यशालाएं आयोजित करना।
  8. कार्य हिंदी में करने हेतु प्रोत्‍साहन देने के लिए प्रोत्‍साहन योजनाएं चलाना।
  9. राजभाषा विभाग से प्राप्‍त वार्षिक कार्यक्रमके अनुसार राजभाषा हिंदी में कार्य करने के वा‍र्षिक लक्ष्‍यों का कार्यान्‍वयन सुनिश्चित करना और निर्धारित लक्ष्‍यों की तुलना में वा‍स्‍तविक उपलब्धियों के आधार पर वार्षिक मूल्‍यांकन रिपोर्ट तैयार करना।
  10. मंत्रालय के विभिन्‍न अनुभागों और अधीनस्‍थ संगठनों से तिमाही प्रगति रिपोर्टों के जरिए राजभाषा नीति के कार्यान्‍वयन के संबंध में सूचना एकत्र करना और मंत्रालय के अनुभागों व अधीनस्‍थ कार्यालयों का निरीक्षण करना।
  11. मंत्रालय में राजभाषा नीति के कार्यान्‍वयन के संबंध में सूचना का अधिकार अधिनियम के अंतर्गतप्राप्‍त आवेदनों का समय पर निपटान सुनिश्चितकरना।